काशीपुर में इंकलाबी मजदूर केन्द्र ने एसडीएम कार्यालय पर दिया प्रतीकात्मक धरना

काशीपुर। इंकलाबी मजदूर केन्द्र (घटक-मासा) ने उपजिलाधिकारी कार्यालय के निकट प्रतीकात्मक धरना दिया। इस दोरान उनके साथ परिवर्तनकामी छात्र संगठन के कार्यकर्ताओं ने भी भागीदारी की।
धरने के दौरान वक्ताओं ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन का सबसे ज्यादा प्रभाव मजदूरों पर पड़ा है।
       इस दौरान सैंकड़ो मजदूर पैदल ही अपने घर जाने को मजबूर हुए और लॉकडाउन में सैंकड़ों मजदूर मारे गये। कहा कि सरकार लॉकडाउन का फायदा उठाकर मजदूरों के अधिकारों पर हमले करती जा रही है। कहा कि रम कानून (44) को 4 श्रम संहिताओं में बदल रही है। यह बदलाव पंजीपतियों के हित में हो रहा है। कई राज्यों में 12 घंटे का कार्यदिवस लागू कर दिया है। यूनियन बनाने व हड़ताल करने के अधिकार पर हमला किया जा रहा है।
   सरकार की जनविरोधी नीतिायें के खिलाफ आवाज उठाने पर जनपक्ष के लोगों को देशद्रोही बालेकर जेलों में डाला जा रह है। इंकलाबी मजदूर केन्द्र ने देश के मजदूरों से केन्द्र व सरकारों के खिलाफ संघर्ष करने का आहवान किया। धरना देने वालों में खीमचन्द्र जोशी, मनप्रीत सिंह, विमल जोशी, चंदन आदि लोग शामिल रहे।

Google Addes.....

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

0