लालकुआं: दुग्ध उत्पादक होगे किसान क्रेडिट कार्ड से लैस

लालकुआ। नैनीताल दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ द्वारा डेरी विकास विभाग के माध्यम से संचालित किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अन्र्तगत सहकारी बैंको के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से नैनीताल दुग्ध से सम्बद्ध समस्त दुग्ध उत्पादको को वित्त पोषित किये जाने हेतु के.सी.सी. (किसान क्रेडिट कार्ड) बनाने हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत बिन्दुखत्ता क्षेत्र में किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प लगाया गया।
विधायक नवीन दुम्का व अध्यक्ष नैनीताल दुग्ध संघ बोरा द्वारा दुग्ध समिति बोरिंग पटटा में कैम्प का शुभारम्भ किया गया इस दौरान विधायक नवीन दुम्का द्वारा सरकार की उपलिब्ध्यों प्रकाश डालते हुए कहा कि सरकार द्वारा अंसगठित क्षेत्र के लोगो पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है जिसके तहत डेरी विकास विभाग के माध्यम से संचालित किसान क्रेडिट कार्ड (के.सी.सी.) से प्रत्येक दुग्ध उत्पादको को जोडने का निर्णय लिया गया है ताकि धनराशि की आवश्यकता होने पर किसान क्रेडिट कार्ड का उपयोग कर सके। अध्यक्ष मुकेश बोरा ने कहा कि सरकार के सहयोग से दुग्ध उत्पादको के हितो में कई कल्याणकारी योजनाए चलाई जा रही है और इसी के तहत नैनीताल दुग्ध संघ का प्रयास है कि प्रत्येक दुग्ध उत्पादक केसीसी कार्ड धारक हो। जिसके क्रम में बिन्दुखत्ता क्षेत्र में आयोजित कैम्प में आज दुग्ध संघ प्रबन्धन द्वारा कैम्प लगाकर उचित समाजिक दूरी बनाते हुए लगभग 50 दुग्ध समितियों के अध्यक्ष एंव दुग्ध समितियों सचिवों वह दुग्ध उत्पादकों को के.सी.सी. (किसान क्रेडिट कार्ड) से सम्बन्धित महत्तवपूर्ण जानकारी दी गई ।

दुग्ध समिति में बनाये जायेगे किसान क्रेडिट कार्ड 
सामान्य प्रबन्धक अजय क्वीरा द्वारा बताया गया कि के.सी.सी. अभियान को सफल बनाने हेतु दुग्ध समितियों में जगह जगह कैम्प आयोजित किये जा रहे तथा दुग्ध उत्पादक द्वारा जिस दुग्ध समिति में दुग्ध आपूर्ति की जा रही है उसी दुग्ध समिति में किसान क्रेडिट कार्ड बनाये जायेगे। केसीसी नोडल अधिकारी अनिल नेगी द्वारा बताया गया कि दुग्ध उत्पादकों का बैंकों के माध्यम से बिना गारंटी के 1लाख 60  हजार व दुग्ध समिति के गारंटी पर 3 लाख तक का किसान क्रेडिट कार्ड बनाया जाएगे । इस दौरान दुग्ध संघ प्रबन्ध कमेटी सदस्य राजेन्द्र प्रसाद, उत्तराखण्ड ग्रामीण बैक व भारतीय सटेट बैक के शाखा प्रबन्धक समेत दुग्ध संघ फील्ड अधिकारी भरत कुमार, मोहन जोशी, राजेन्द्र कुमार, गीता नेगी समेत दुग्ध उत्पादक उपस्थित थे।
– किसान क्रेडिट कार्ड बनाने हेतु निम्नवत अर्हताएं है।
1-प्राथमिक दुग्ध उत्पादक सहकारी समिति का सदस्य हो ।
2-दुग्ध उत्पादक का आाधर कार्ड, राशन कार्ड, पैन कार्ड/पहचान पत्र आदि
3-पासपोर्ट साइज फोटो ।
4-पहले से बनी के.सी.सी. ।
5-बैक खाते की पास बुक ।

Google Addes.....

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

0