ट्रांजिट कैम्प : सड़क, गड्ढे और तालाब। बारिश के पानी से तालाब बनी ट्रांजिट कैम्प की मुख्य सड़क।

रुद्रपुर। झील से सिडकुल तक जाने वाली सड़क ट्रांजिट कैम्प क्षेत्र की जीवन रेखा है, बावजूद विभाग उदासीन है। स्थिति यह है कि सड़क में अनगिनत गड्ढे हैं और सड़क मरहम के इंतजार में है। हालांकि सड़क के जीर्णोद्धार काम के स्वीकृत होने की बात कही जा रही है, लेकिन तब तक विभाग मेंटनेंस भी नहीं करा रहा है। यही वजह है कि गड्ढों भरी सड़क हादसों का सबब बनी हुई है। ट्रांजिट कैम्प क्षेत्र को शहर से जोडऩे वाली इस सड़क की हालत शिव मंदिर से कैम्प चौकी के बीच ज्यादा खराब है। कई जगह गड्ढे हो गए हैं तो कहीं बारिश का पानी गड्ढों में भरकर सड़क को तालाब बना रहा है। स्थिति यह है कि इस सड़क से कई बार विधायक, मेयर, बड़े-बड़े अफसर और जनप्रतिनिधि गुजरते रहते हैं, लेकिन आज तक किसी ने इस ओर ध्यान भी नहीं दिया है। यही वजह है कि संबंधित महकमें के अफसर भी उदासीन हो रहे हैं। क्षेत्र के लोगों का तो आरोप है कि सड़क की हालत के लिए यहां के जनप्रतिनिधि जिम्मेदार हैं उनकी उदासीनता के कारण ही आज सड़के तालाब बन गयी है।

प्रतिदिन गुजरते हैं सैकड़ों वाहन

इस मार्ग से प्रतिदिन सैकड़ों वाहन गुजरते हैं, लेकिन गड्ढों के चलते वाहन हिचकोले खाकर चलते हैं। यही नहीं गड्ढों में उलझकर कई वाहन तो दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं। हालांकि इस संबंध में स्थानीय लोगों द्वारा जिला प्रशासन और शासन को पत्र भी लिखे, लेकिन नतीजा सिर्फ ढाक के तीन पात वाला ही है।

युवाओं ने खोल रखा है मोर्चा

इस सड़क की बदहाली के खिलाफ क्षेत्र के युवाओं ने प्रशासन के विरुद्ध मोर्चा खोल रखा है। युवाओं ने सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक आंदोलन कर रहे हैं। युवाओं ने इस लड़ाई में किसी भी हद तक जाने की चेतावनी दी है।

ट्रांजिट कैम्प की मुख्य सड़क का हाल सबसे बुरा है। लोग गड्ढों में चलने को मजबूर हैं। बारिश से हालात और भी बुरे हो गए हैं। प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए।
प्रवीण राय चौधरी

जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते आज यह स्थिति हो गयी। हमने आंदोलन छेड़ दिया है। जब तक सड़क नहीं बनेगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा। वोट लेना है तो काम भी करना होगा।
शुभम दास

इसका सड़क बोलना गलत होगा। सड़क के नाम पर हम कई सालों से सिर्फ गड्ढे ही देखते आ रहें हैं। जनप्रतिनिधियों ने आंख, कान बन्द कर रखे हैं। लेकिन हम इन्हें जगाकर ही दम लेंगे। सड़क बनने तक आंदोलन जारी रहेगा।
सचिन सक्सेना

Google Addes.....

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

0